जय माँ रतन गड़ वाली की   

दोहा- अति विचित्र पवन परम,रुचिर रतन गड़ धाम|
आदि शक्ति ब्राजी जहाँ, सफल होत सब काम||

रतनगढ़ माता मंदिर रामपुरा गांव से 5 किमी और दतिया (मध्य प्रदेश) से 55 किमी दूर  स्थित है|

यह पवित्र स्थान घने जंगल में और "सिंध" नदी के किनारे पर है, हर साल हजारों भक्त इस मंदिर में आते हैं ताकि वे माता रतनगढ़ वाली और कुंवर महाराज का आशीर्वाद पा सकें।


हर साल भाई दूज (दीपावली के अगले दिन) के दिन लाखों श्रद्धालु यहां माता और कुंवर महाराज के दर्शन करने के लिए आते हैं |

यह पवित्र स्थान ग्वालियर और 
दतिया से आसानी से पहुंचा जा सकता है।
 
   

     जय माता दी

 
    आपके सहयोग के लिए धन्यवाद

    श्री हमीर सिंह गुर्जर को अपनी पुस्तक "रतनगढ़ का इतिहास" के लिए विशेष धन्यवाद












Comments